उत्तराखंड में टूटा ग्लेशियर कुदरत ने मचाई तबाही

 उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही मच गई है ग्लेशियर के टूटने से अलकनंदा और धौली गंगा नदी उफान पर आ गई है उत्तराखंड के चमोली जिले में ऋषि गंगा नदी पर एक पावर प्रोजेक्ट टीम का हिस्सा टूट गया जिसके कारण भारी तबाही हुई है।

इसलिए शेयर के टूटने से नदियां उफान पर आ गई हैं और काफी जनहानि हुई है इस आपदा के बाद प्रदेश भर में अलर्ट जारी कर दिया गया है सूचना मिलते ही जिला प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई है घटना के तुरंत बाद ऋषिकेश, हरिद्वार, पौड़ी, टिहरी सहित मैदानी इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है

नदियों का प्रवाह अप्रत्याशित रूप से बड़ा

डैम टूटने के कारण अलकनंदा नदी का जल प्रवाह अप्रत्याशित रूप से बढ़ चुका है और बताया जा रहा है कि इस घटना में करीब 150 मजदूरों के बह जाने की आशंका है इस घटना से तपोवन में धौलीगंगा पर बना बांध भी टूट गया है,भागीरथी नदी का प्रभाव भी रोका गया है

बताया जा रहा है कि ग्लेशियर में बनी झील टूटने की वजह से यह बाढ़ आई है,नदी में करीब 15 मिनट तक बाढ़ का असर  रहा उसके बाद नदी अपनी सामान्य स्थिति में आ गई।

ऋषि गंगा नदी पर है पावर प्रोजेक्ट

जोशीमठ के आगे नीति मार्ग पर एक निजी कंपनी का ऋषि गंगा नदी पर पावर प्रोजेक्ट बनाया गया है जिससे यहां करीब 24 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है यही डैम टूटने के कारण नदियों में अचानक से बाढ़ की स्थिति बन गई

और आसपास के इलाकों में बाढ़ का पानी भर गया सेनानायक एसडीआरएफ नवनीत भुल्लर रेस्क्यू ऑपरेशन की कमान संभालने के लिए हेलीकॉप्टर से चमोली रवाना हुए हैं… '$'

Comments

comments