Bird Flu

Bird Flu वास्तव में Az संक्रामक बीमारी है. यह इन्फ्लूएंजा टाइप ए वायरस की मदद से फैलता है जो आमतौर पर चिकन, कबूतर और इस तरह के पक्षियों में पाया जाता है. इस वायरस के बहुत से स्ट्रेन हैं. इसमें से कुछ माइल्ड होते हैं जबकि कुछ बहुत अधिक संक्रामक होते हैं और उससे बहुत बड़े पैमाने पर पक्षियों के मरने का खतरा पैदा हो जाता है.

बर्ड फ्लू को एवियन इंफ्लूएंजा भी कहते हैं. यह बहुत संक्रामक और कोरोना की तुलना में ज्यादा घातक है. एनफ्लूएंजा के 11 वायरस हैं जो इंसानों को संक्रमित करते हैं. लेकिन इनमें से सिर्फ पांच ऐसे हैं जो इंसानों के लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं. ये हैं- ये हैं- H5N1, H7N3, H7N7, H7N9 और H9N2.

बर्ड फ्लू पक्षियों के जरिए ही इंसानों में फैलता है. इन वायरस को एचपीएआई कहा जाता है. इनमें सबसे ज्यादा खतरनाक H5N1 बर्ड फ्लू वायरस है. बर्ड फ्लू अब तक दुनिया में चार बार बड़े पैमाने पर फैल चुका है. अब तक 60 से ज्यादा देशों में बर्ड फ्लू महामारी का रूप भी ले चुका है.

केरल में बर्ड फ्लू के एच5एन8 स्ट्रेन को नियंत्रित करने के लिए मुर्गे-मुर्गियों और बत्तखों को मारा जा रहा है. केरल में अलप्पुझा और कोट्टायम में प्रभावित क्षेत्रों के एक किलोमीटर के दायरे में पक्षियों को मारने का अभियान शुरू किया गया है.

H5N1 बर्ड फ्लू वायरस के साथ एक सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि इसका वायरस हवा से फैलता है. इसके साथ ही वायरस तेजी से म्यूटेशन भी करता है. इंसानों से इंसानों में बर्ड फ्लू संक्रमण के मामले कम देखे गए हैं।

पक्षियों और जानवरों के जरिए इंसानों में इसका संक्रमण जरूर फैला रहा है। हालांकि अब विश्व भर में से चीन में एक व्यक्ति वर्ल्ड फ्लू से संक्रमित पाया गया है जो कि काफी चिंताजनक बात है।

Comments

comments