पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद कई हिस्सों में हिंसा भड़क उठी थी। बीजेपी ने इस हिंसा के लिए सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के लोगों को जिम्मेदार ठहराया था। अब इसी घटना को लेकर सोशल मीडिया पर एक न्यूज़ वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में ब्रेकिंग न्यूज़ दिखा कर दावा किया जा रहा है कि कोलकाता हाईकोर्ट ने हिंसा को देखते हुए सीएम ममता बनर्जी से इस्तीफा मांगा है वीडियो में एक आदमी खबर सुना रहा है और साथ में न्यूज़ चल रही है। आदमी बोल रहा है कि हाईकोर्ट ने कहा है कि अगर राज्य सरकार ने लॉ एंड ऑर्डर नहीं संभल रहा तो ममता बनर्जी इस्तीफा दे दें। वीडियो में यह भी बताया जा रहा है कि गृह मंत्रालय की टीम बंगाल पहुंची है और जांच के बाद बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाया गया।

इंडिया टुडे एंड फेक न्यूज़ वार रूम ने पाया वीडियो में किया जा रहा दावा भ्रामक है। हिंसा को लेकर कोलकाता हाईकोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार में हलफनामा दाखिल करने को जरूर कहा था लेकिन ममता बनर्जी से इस्तीफा मांगने की खबर झूठी है। अभी तक ऐसी कोई न्यूज़ सामने नहीं आई है।

क्या है पूरी सच्चाई

इंटरनेट से ऐसी कोई खबर नहीं मिली है जिसमें जिक्र किया गया हो कि कोलकाता हाईकोर्ट ने ममता बनर्जी से इस्तीफा मांगा है। अगर ऐसा होता तो यह खबर एक तरफ छाई रहती, हालांकि बंगाल हिंसा पर एक्शन लेते हुए कोलकाता हाईकोर्ट की 5 सदस्यीय पीठ ने ममता सरकार से 3 दिनों के अंदर रिपोर्ट पेश करने को कहा था। पीठ ने आदेश दिया था कि हलफनामे में सरकार बताए कि किन जगहों पर हिंसा हुई और सरकार ने क्या कदम उठाए। वीडियो में यह भी कहा जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाया जाएगा। बंगाल में हुई हिंसा के बाद बीजेपी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग उठाई थी। इसको लेकर इंडिया कलेक्टिव नाम की एक गैर सरकारी संस्था की तरफ से भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल हुई। इसके अलावा पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने हिंसा पर चिंता जाहिर की थी और कहा था कि राज्य में कानून व्यवस्था बिगड़ने को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। लेकिन अभी तक निश्चित तौर पर यह नहीं कहा जा सकता कि बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगेगा। हालांकि वीडियो में कहीं जा रही यह बात सही है कि बंगाल हिंसा को लेकर गृह मंत्रालय की 4 सदस्य टीम राज्यपाल धनखड़ से मिली और उसने मामले पर रिपोर्ट मांगी।

इस पूरी पड़ताल से यह पता चलता है कि कानून व्यवस्था को लेकर कोलकाता हाईकोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार से हलफनामा दाखिल करने को जरूर कहा था लेकिन ममता बनर्जी से इस्तीफा मांगने वाली बात झूठी है।

Comments

comments