संजय लीला भंसाली और आलिया भट्ट को कोर्ट का समन

संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी जिसमें आलिया भट्ट मेन किरदार करती नजर आने वाली हैं मुश्किलों में घिरती नजर आ रही है, मुंबई की एक अदालत ने संजय लीला भंसाली और आलिया भट्ट को इस फिल्म के संबंध में समन भेजा है यह समन गंगूबाई के कथित बेटे बाबूरावजी शाह की याचिका के बाद भेजा गया है

लगातार विरोध के बीच मुंबई की मजगांव अदालत में आलिया भट्ट,संजय लीला भंसाली और फिल्म के राइटर को समन भेजा है और हाजिर होने के आदेश दिए हैं।मुंबई की एक चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने सभी को 21 मई को कोर्ट में हाजिर होने के आदेश दिए हैं

 फिल्म को लेकर चर्चा और विरोध दोनों बने हुए हैं

यह फिल्म काफी दिनों से चर्चा और विरोध में बनी हुई है बीते दिनों फिल्म के विरोध में महाराष्ट्र विधानसभा में भी चर्चा हुई थी कांग्रेस विधायक अमीन पटेल ने फिल्म के नाम का विरोध किया था। ताजा मामले में मजिस्ट्रेट ने यह समन क्रिमिनल मानहानि केस की तरह भेजा है। बाबूरावजी शाह नाम के एक शख्स ने मानहानि का केस गंगूबाई काठियावाड़ी फिल्म पर दर्ज करवाया था। बाबू राव जी का दावा है कि वह गंगूबाई के गोद लिए हुए बैठे हैं और उन्होंने याचिका दर्ज कराई है कि फिल्म के कारण उनके परिवार की बदनामी हो रही है

बाबू राव जी का दावा झूठे तथ्यों पर आधारित है फिल्म

बाबू राव जी ने दावा किया है कि वे गंगूबाई काठियावाड़ी के गोद लिए हुए बैठे हैं उनका कहना है कि हुसैन जैदी की किताब "माफिया क्वीन्स ऑफ मुंबई" में लिखी बातें बिल्कुल भी सच नहीं है ऐसे में संजय लीला भंसाली ने झूठे तथ्यों को आधार बनाकर फिल्म बनाई है ऐसे मे उन्होंने फिल्म के निर्देशक के साथ ही उपन्यास के लेखक के खिलाफ भी मानहानि का दावा ठोक दिया है।

बाबू राव जी ने इससे पहले सेशन कोर्ट में भी दावा किया था उन्होंने वहां फिल्म के प्रोमो और ट्रेलर पर रोक लगाने की मांग की थी लेकिन कोर्ट ने उनकी इस याचिका को खारिज करते हुए कहा कि ऐसा नहीं किया जा सकता क्योंकि किताब 2011 में रिलीज हुई थी और वह अब 2020 में शिकायत दर्ज करवा रहे हैं

 बेटे होने का कोई सबूत नहीं

इस पूरे मामले में सबसे दिलचस्प बात यह है कि बाबू राव जी गंगूबाई के बेटे होने का कोई सबूत नहीं दे पाए थे कि वह सच में उनके गोद लिए हुए बेटे हैं। फिल्म मेकर्स और लेखकों ने यह बात सामने रखी कि कैसे गंगूबाई की फैमिली के साथ कभी भी बाबूरावजी को नहीं देखा गया है सेशन कोर्ट में बाबूरावजी की याचिका खारिज होने के बाद उन्होंने क्रिमिनल एक्शन में फिल्म मेकर्स और लेखकों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था।

 फिल्म के टीज़र को पसंद किया जा रहा है

चर्चा और विरोध के बीच ही गंगूबाई काठियावाड़ी के टिज़र को लोगों द्वारा पसंद किया जा रहा है इस फिल्म में आलिया भट्ट अलग ही लुक में नजर आ रही है और इसमें आलिया के साथ अजय देवगन और इमरान हाशमी भी नजर आएंगे यह फिल्म साठ के दशक में मुंबई के काठियावाड़ इलाके में गंगूबाई के राज की कहानी है । गंगूबाई एक कोठा चलाती थी वह उस दौर में मुंबई अंडरवर्ल्ड में भी अपने साथ रखती थी गंगूबाई मूल रूप से गुजरात की रहने वाली थी उनके पति ने ₹500 में कोठे पर बेच दिया था।

'$'

 

Comments

comments