up-board

NEW DELHI: यूपी में कोरोना की वजह से लगभग लगा हुआ है ऐसे में यूपी बोर्ड की परीक्षाएं करवाना आसान नहीं होगा लिहाजा बोर्ड ने हाई स्कूल के छात्रों को 11वीं में प्रमोट करने का मन बना लिया है और इसलिए यूपी बोर्ड ने 10वीं के छात्र-छात्राओं की छमाही रिजल्ट और प्री बोर्ड के रिजल्ट मांगे है ।

CBSE  और cisce बोर्ड की तरह उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल की परीक्षा निरस्त करने की तैयारी में है कोरोना महामारी की वजह से बढ़ रहे लॉकडाउन को देखते हुए यूपी बोर्ड के सचिव दिव्य कांत शुक्ल ने सभी जिलों के जिला विद्यालय निरीक्षकों से हाईस्कूल के छमाई और प्री बोर्ड की परिणाम मंगलवार तक बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड करने के निर्देश दिए है।

कहा जा रहा है कि जिस तरह से लोग दान बढ़ाया जा रहा है वैसे मैं अब यूपी बोर्ड की परीक्षाएं करवाना आसान नहीं होगा लिहाजा बोर्ड हाई स्कूल के छात्रों को 11वीं में प्रमोट कर सकता है। ऐसी खबरें सुनने को मिल रही है।

UP board के सचिव ने सभी जिलों ने डीआईओएस से कहा कि वे सभी प्रधानाचार्य से मांगी गई जानकारी को मंगलवार तक बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड करवा दें जिस जिले की जानकारी अपलोड नहीं होगी उसकी जिम्मेदारी संबंधित जिले के डी आई ओ एस की होगी ।

इस साल 2021 को 299312 बच्चों ने पंजीकरण कराया है। हालांकि कोरोना के कारण परीक्षाएं कई बार स्थगित करनी पड़ी है इसलिए अब बोर्ड ने 10वीं के छात्र-छात्राओं के छमाही और प्री बोर्ड के रिजल्ट मांगे हैं हालांकि 12वीं की परीक्षा को लेकर फैसला 20 मई के बाद आएगा।

Comments

comments