घर-घर राशन योजना

घर-घर राशन योजना: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘घर-घर राशन योजना’ को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख निवेदन किया कि केंद्र सराकर दिल्ली में ये योजना लागू होने दे। केजरीवाल ने पत्र में लिखा, “दिल्ली के 70 लाख गरीब लोगों की ओर से आपसे विनती करता हूं, सर प्लीज इस योजना को मत रोकिए, ये राष्ट्रहित में हैं। इसे लागू होने दीजिए।” उन्होंने पत्र में पीएम से ये भी कहा कि केंद्र सरकार इस योजना में जो बदलाव करवाना चाहती है, उसके लिए दिल्ली सरकार तैयार है ताकि दिल्ली के लोगों के घर तक राशन पहुंचाया जा सके।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अगले हफ्ते से घर-घर राशन पहुंचाने का काम शुरू होने वाला था। इसके तहत गरीब लोगों को राशन की दुकान पर धक्के खाने के लिए नहीं जाना पड़ता बल्कि सरकार बढ़िया से राशन बैक करके दिल्ली के गरीब के घर भिजवाती लेकिन अचान इस योजना को लागू होने से पहले ही रोक दिया गया। लोग पूछ रहे हैं कि ऐसा क्यों हुआ?

ALSO READ: How are private hospitals getting the vaccine, Delhi point the center

उन्होंने कहा कि लोग पूछ रहे हैं कि अगर पिज्जा की होम डिलिवरी हो सकती है, बर्गर की होम डिलिवरी हो सकती है तो फिर गरीबों के घर में राशन की होम डिलिवरी क्यों नहीं होनी चाहिए? केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में ही नहीं, बल्कि पूरे देश में घर-घर राशन पहुंचाने की योजना लागू करनी चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि वो केंद्र सरकार की योजना का रत्ती भर भी क्रेडिट नहीं ले रहे हैं, उनका सिर्फ एक ही मकसद है, किसी भी तरह से गरीबों को उनका पूरा राशन मिले।